अपनी माँ को चोदा मौसी की मदद से

Maa beta xxx hindi story, Chudai kahani, चुदाई की कहानियाँ, Maa ki chudai, सेक्स कहानी, maa ki tadapti jawani, Desi xxx kamuk kahani, Kamuk story, Sex stories, Sex kahani,मेरी मम्मी का नाम वंदना है. मेरी मम्मी बड़ी सेक्सी है, वो अक्सर साड़ी ही पहनती है. और वह साड़ी में बड़ी सेक्सी लगती है.उन के बूब्स और चूतड़ बड़े हैं जब वो चलती है तो उनके बड़े बूब्स लटकते हैं और वह मुझे बहुत अच्छे लगते हैं, और चलते समय उनके चूतड़ क्या मस्त दीखते हैं? जब मैं उन्हें देखता हूं मेरा लंड अपने आप ही खड़ा हो जाता है और मेरा मुठ मारने का मन करता है..बात उस समय की है जब मेरे पापा आउट ऑफ स्टेशन थे और घर पर मैं और मेरी मॉम अकेले थे. तभी मेरी मौसी आ गई, मेरी मौसी बड़ी सेक्सी है. वह भी अक्सर साड़ी पहनती है और वह साड़ी में बड़ी सेक्सी लड़की है. उनके बूब्स बड़े हैं. हम लोगों ने रात में मिलकर खाना खाया फिर हम सोने के लिए तैयारी करने लगे.

माँ को चोदा
अपनी माँ को चोदा मौसी की मदद से


मेरी मौसी छत में सोती है इसलिए वह छत पर चली गई मैं और मोम एक कमरे में डबल बेड पर लेट कर सो गए, मुझे मम्मी के अपने बगल में सोता देखकर तो नींद तो आ नहीं रही थी, फिर भी चादर के अंदर मम्मी को सोचकर मुठ मारकर सो गया.रात में लगभग एक बजे होंगे, मैं पेशाब करने के लिए उठा तो मैंने देखा कि मां की साड़ी घुटनों के ऊपर थी. मैं बाथरुम कर के मॉम के बगल में लेट गया, मोम सीधे लेटी थी और उनकी एक टांग उठी हुई थी.. मैंने चैक करने के लिए कि वह सो चुकी है कि नहीं मैंने उनके हाथ को छुआ तो वह नहीं जागी.इससे मेरी हिम्मत और बढ़ी और मैं उनके बूब को छूने लगा.. मैं डर रहा था की वह जाग ना जाए पर मुझ पर सेक्स का भूत सवार था. मैंने थोड़ा उनकी चूची दबाई तो मुझे लगा जैसे मैं मखमल को छू रहा हूं. मैंने एक हाथ अपने लोवर में डाला और लंड जो पूरा ९ इंच का था.आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मैं मुठ मारने लगा और एक हाथ से उनकी चूची दबाने लगा, और मैं कुछ देर बाद ही जड गया, मेरा पूरा गाढ़ा और बहुत ज्यादा वीर्य मेरी निक्कर पर गिर गया. मेरी पूरी निकर वीर्य से भर गई..मुझे पता नहीं कब सो गया. मेरा हाथ उनके बुब पर ही रखा था. ६ बजे होंगे कि मेरी नींद खुल गई. मैं फिर उनके बूब्स दबाने लगा. धीरे धीरे मैं अपना हाथ उनकी जांघों के पास ले गया और ऊपर लेता गया तो मैंने देखा कि मेरी मॉम ने पैंटी नहीं पहनी है. मैं उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा मुझे जरा सा भी नहीं पता था कि कोई मुझे यह सब करते देख रहा है. फिर अचानक मुझे लगा कि कोई कमरे में आ रहा है. मैंने फिर से चादर ओढ़ ली और सोने का नाटक करने लगा. मैंने देखा कि वह मेरी मौसी है जो मुझे जगाने के लिए आ रही है.

मोसी ने मुझे जगाने के लिए मेरी जांघो को हीलाया तो मैं उठ गया मगर मुझे उनका स्पर्श बड़ा अच्छा लगा, मौसी जाते जाते मुझे कह गई की अपनी मम्मी को भी जगा देना, तेरी मां भी कुम्भकर्ण से कम नहीं है, मैंने उन्हें उनके बूब्स से हीलाकर जगा दिया.मम्मी थोड़ी देर बाद उठ गई है और उन्होंने मुझे नहाने को कहा, मैं आपको एक बात तो बताना भूल ही गया मेरी मौसी की शादी तो हो गई है पर बच्चे अभी नहीं है. मैं नहाने चला गया मैंने बाथरुम में जाकर एक बार मुट्ठ मार मारी.आप सारा वीर्य अपने अंडरवियर में ही छोड़ दिया, मैं कॉलेज के लिए लेट हो रहा था. इसलिए मैंने अपना अंडरवियर मम्मी को धोने को दे दिया, मैं कॉलेज के लिए निकल गया और शाम को लगभग ५ बजे घर आया. मैंने खाना खाया और छत पर चला गया. थोड़ी देर बाद मां और मौसी दोनों छत पर आ गई.आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। तभी मेरी मौसी ने मुझे कहा कि रात में अच्छी नींद आई, तो मैंने कहा कि हां थोड़ी देर बाद मोम भी हमारे पास खड़ी हो गई है तभी मेरी मॉम अपना पेर खुजाने को जुकी तो उनका पल्लू नीचे गिर गया. मैंने देखा कि उनके निप्पल साफ दिख रहे थे और उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी.मेरा लंड फनफना उठा और मैंने सिर्फ लोअर और शर्ट पहना हुआ था जिसमें मेरे लंड की उठान साफ दिख रही थी. तभी मम्मी ने कहा कि आज जब मैं तेरा अंडरवियर रही थी तो उसमें बहुत ही बदबू थी तूने क्या किया था?मेरी नज़र झुक गई और कुछ ना बोल सका. तभी मौसी बोलने लगी कि जब मैं इसके मौसा का अंडर वियर धोती हूं तो मुझे भी अजीब सी बदबू आती है. तभी मां ने कहा बताना? मैंने कहा कुछ नहीं, बस ऐसे ही. तभी मौसी ने मेरा लंड छुआ और कहा कि यह सब ईसकी देन होगी..

मैं शरमा गया तभी मां ने कहा दिखा यह क्या है? मैं उसे दिखाना तो नहीं चाहता था पर मेरा लोवर मौसी ने नीचे कर दिया, माँ ने कहां इतनी बड़ी लुल्ली?? तो मौसी ने कहा लुल्ली नहीं बहना यह तो लंड है. मां ने कहा यह लंड हे तो उसके पापा के पास तो लुल्ली भी नहीं है.मौसी बोली बहना यह देख कितना बड़ा और मोटा है? इसीने सब किया है. मैं शरमा गया और लोवर वापस ऊपर कर लिया, तभी मां ने मेरे लोवर के अंदर हाथ डालकर उसे दबा दिया. मैं तो दर्द के मारे चिल्ला ने ही वाला था कि मां मुझे लिपट गई और पूछने लगी कि कल रात मेरे साथ क्या कर रहा था??और मेरा लंड बाहर निकाल दिया और मैं शर्मा के नीचे चला गया, मैं कमरे में जाकर मौसी और मां के स्पर्श के बारे में सोचने लगा थोड़ी देर बाद मां और मौसी भी नीचे आ गई और मेरे पास आकर सोफे पर बैठ गए मां और मौसी मेरे बगल में बैठ गई..माँ ने पूछा कि तूने अभी जवाब नहीं दिया कि कल रात को क्या कर रहा था? मैं कुछ ना बोल सका मेरा लंड तो खड़ा ही था, तभी मौसी ने बोला दीदी मैंने देखा था कि यह आप की चुचियों को दबा रहा था. मा ने कहा कि एक बार फिर से तो करना.. आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। और मैंने अपने हाथ ऊपर उठा लिए. मेरा मन तो बहुत कर रहा था लेकिन मैं डर रहा था पर मां ने फिर से कहा और मां हाथ से अपना पल्लू हटाते हुए मेरे पास आकर खड़ी हो गई और मेरा हाथ अपने बुब पर रख लिया और मैं दबाने लगा. माँ के मुंह से आह्ह औऊ अय्य्य अहह ईई आवाज निकली.उनकी बूब टाइट थे, जब मैं उन्हें दबा देता तो वह फिर से उसी तरह से तन जाते और मा कह रही थी कि धीरे धीरे दबाना. मौसी मेरे करीब आकर बैठ गई पहले तो वह मेरा लंड लोवर के ऊपर से सहला रही थी, फिर मेरा लोवर भी जांघो तक नीचे कर दिया.मेने थोड़ी देर बाद मा का ब्लाउज उतार फेंका और उनके बड़े बड़े बूब उछल कर बाहर आ गए. मैं उनके बड़े बड़े बूब्स को दबाने लगा और उनकी निप्पल सक करने लगा. माँ बार बार आहा औउ हहह आयी ईई अऊ कर रही थी कभी कभी उन्हें काट भी लेता था तो बहुत जोर से चीख देती. लगभग १५ मिनट तक मैं उसे दबाता रहा.

मौसी ने भी अपना ब्लाउज उतारा और कहा बेटा यह देख यह भी कम बड़ी नहीं है. लेकिन मैं अब मौसी के बूब दबा रहा था और वह भी मेरे दबाने पर चीख उठी. मां ने मेरे लंड को हिलाना शुरू कर दिया था और मौसी अपने बूब्स दबाते हुए मुझे किस करने लगी. मेरी टी शर्ट उतार फेकी नीचे से मेरी मां ने मेरा लोवर और उतार दिया.अब मैं उन दोनों के सामने नंगा था मां ने मेरा लंड चूसते हुए अपने कपड़े भी उतार दिए और मौसी की साड़ी खोलने लगी. फिर थोड़ी देर बाद मौसी भी नंगी हो गई थी अब हम तीनों एकदम नंगे थे. तभी मैं उठी और मौसी को थोड़ा साइड करके मेरे को थोड़ा आगे खींचकर थोड़ा लेटा दिया. मैंने मौसी को अपने पास लिया और उनके बूब्स मुह में डाल कर चूसने लगा. मां अपनी टांगें फैलाकर मेरे लंड के ऊपर बैठने लगी और मेरे लंड को अपनी चूत में डालने लगी.. आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मां की चूत बहुत ज्यादा खुली थी इसलिए मेरा लंड एकदम उनकी चूत में घुस गया अब मैं ने मौसी को चुचिया जोर जोर से चूसता और कभी काट देता. वह सिसकियां लेते हुए कभी चीख भी पढ़ती थी. मां पूरी स्पीड के साथ मेरा लंड अपनी चूत में डाल रही थी और आवाजे निकाली जा रही थी.अब मैंने मौसी को छोड़कर अपनी मां की चुचियों को पकड़ लिया और जोर से दबाने लगा माँ अपने बोल पकड़कर उछल रही थी और मैंने उनकी चुचियों को दबा रखा था. और मौसी मेरी टांगों के बीच में बैठकर मेरे लंड को चाटने लगी तभी माँ एकदम से जड़ गई और रुक कर मेरे ऊपर लेट गई.

वो मुझे किस करने लगी. फिर मौसी ने पीछे से मां को पकड़कर कहा है बहना अब मुझे भी थोड़ा सा इस कातिल लंड का मजा लेने दो ना और माँ उठ कर खड़ी हो गई उनकी चूत से पानी गिर रहा था जिससे मेरा लंड पूरा नहा लिया अब मौसी ने पटक से मेरा लंड अपने कब्जे में किया और चूस कर साफ कर दिया.और नीचे बिछी चटाई पर लेट गई और बोली आजा मेरे राजा बेटा अपनी मौसी की चूत की प्यास बुझा दे.और वह टांगो को फैला ने अपनी चूत में उंगली रगड़े जा रही थी.मेरी मां ने कहा जा बेटा फाड़ डाल अपनी मौसी की चूत को और अपनी मां का नाम रोशन कर दे. यह कहकर मासी और मां दोनों हसने लगी, मैंने भी अपना लंड पकड़ा और कूद गया मौसी के ऊपर, मौसी ने मेरा लंड पकड़ कर सीधा अपनी चूत के मुहाने पर लगा दिया.मैंने एक ही झटके में अपना लंड उसकी चूत में डालने का सोचा पर शायद मेरा लंड उनके लिए मोटा था, वह चीख पड़ी और बोली बेटा ध्यान से तेरा लंड तेरे मौसा के लंड से लंबा और मोटा है, मेरी चूत फट जाएगी, तो माँ पीछे से बोली अरे क्यों डरती है कुछ नहीं होगा और मां ने मेरी गांड को दोनों हाथों से दबा दिया. आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। मेरा पूरा लंड मौसी की चूत में घुस गया, वह जोर से चिल्लाने लगी. उनकी चूत सच में बहुत टाइट थी, उसे मजा आ रहा था, मौसी तड़पते हुए मुझे जोर से पकड़ा और चूमने लगी, मा ने मेरी कमर पकड़ कर धक्के लगाने शुरू कर दिए.मैंने खूब जोर से मौसी को चोदना शुरू कर दिया और मौसी की अपनी गांड को उछल कर मेरा साथ देने लगी और आय उऔउ आयी ई ओऊ आवाजे निकाले जा रही थी. अब मैंने अपना लंड मौसी की चूत की अंदर तक डालना शुरु कर दिया और मां हमारे पास बैठी मुझे और मौसी को चूमें जा रही थी.फिर मौसी एकदम से जड़ पर ढिली हो गई, बहुत सारा पानी निकला और मैं नीचे से सारा गीला हो गया. मैंने फिर वीर्य मौसी की चूत में ही छोड़ दिया था. अब हम तीनो वही चटाई पर ही लेट गए और सो गए

शाम को माँ ने मुझे ८ बजे जगाया और खाने में खुब घी डाल कर मुझे दिया और मौसी गाउन में थी और मैं नंगा खड़ा था, खाना खाने के बाद दोनों मुझे फिर प्यार करने लगी और एक घंटे बाद मुझे बाथरुम में ले जाकर खुद भी नंगी हो गई.फिर मुझे बैठा कर पहले दूध और फिर शैंपू से नेहलाया, मैंने भी उन दोनों को खूब अच्छी तरह से नहलाया. फिर उन्होंने मुझे और खुद को एक टॉवल से सुखाया और बेडरूम में ले गई. उस पूरी रात हम नहीं सोए और मैंने कभी अपनी मां को तो कभी अपनी मौसी को ६ बार चोदा. मौसी हमारे घर ६ दिन रही और वह रोज मेरे साथ सेक्स करती.मगर आज इस बात को ७ महीने हो गए हैं, मैं अपनी मां के साथ कंटिन्यू सेक्स कर रहा हूं, मेरी मां दिन में मेरे साथ और रात मेरे पापा के साथ सेक्स करती है, पर उनका कहना है कि मेरे साथ उनको ज्यादा मजा आता है. मेरा लंड मेरे पापा से ज्यादा मोटा और लंबा है. आप ये चुदाई रियल हिंदी सेक्स स्टोरिज़ डॉट कॉम पर पड़ रहे है। इस बात का फायदा उठा कर मैंने अपनी मां की मदद से अपनी २ साल छोटी बहन को भी चोदा जिसके बारे में अगली बार बताऊंगा. कैसी लगी हम डॉनो मां बेटे की सेक्स स्टोरी , अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी मां की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना chudai ki pyasi aurat

1 comments:

Desi xxx kamuk kahani

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter